Sanskrit Shabd Roop MADHU (मधु ) | संस्कृत शब्द रूप मधु नपुंसकलिङ्गम्

मधु शब्द रूप की पूरी जानकारी 

मधु शब्द रूप संस्कृत : संस्कृत भाषा में मधु के अनेक रूप होते हैं। मधु उकारान्त है , लिंग में नपुंसकलिङ्गम् है और मधु संज्ञा है । मधु को अंग्रेजी में (Honey) कहते हैं। मधु को शहद भी कहते हैं। अन्य जो भी सभी उकारान्त नपुंसकलिङ्गम् संज्ञापद हैं उन सभी के रूप इसी प्रकार बनाते है। परंतु कुछ भिन्न भी होते है। आप मधु का शब्द रूप MADHU Shabd Roop in Sanskrit ध्यानपूर्वक नीचे देख सकते हैं। आप अनेक प्रकार के और शब्द रूपों के बारे में जान सकते हैं। आप सभी शब्द रूप की व्याख्या, प्रकार और सम्पूर्ण जानकारी भी पृष्ठ पर नीचे देख सकते हैं।

मधु शब्द रूप संस्कृत भाषा में

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा मधु मधुनी मधूनि
द्वितीया मधु मधुनी मधूनि
तृतीया मधुना मधुभ्याम् मधुभिः
चर्तुथी मधुने मधुभ्याम् मधुभ्यः
पन्चमी मधुनः मधुभ्याम् मधुभ्यः
षष्ठी मधुनः मधुनोः मधूनाम्
सप्तमी मधुनि मधुनोः मधुषु
सम्बोधन मधु, मधो मधुनी मधूनि

SANSKRIT SHABD ROOP

शब्द रूप का सम्पूर्ण वर्णन What is Shabd Roop?

किसी वाक्य की सबसे छोटी इकाई को शब्द कहा जाता है। शब्दों के कई रूप होते हैं (संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण आदि)। व्याकरण में, वाक्य के अन्य शब्दों और क्रियाओं को छोड़कर अन्य पदों को नाम कहा जाता है। इस प्रकार, किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान, भावना (क्रिया) आदि को निरूपित करने वाले शब्दों को संज्ञा कहा जाता है।
ये शब्द संस्कृत भाषा में प्रयुक्त होने वाले ‘पद्य’ के रूप में प्रयुक्त होते हैं। संज्ञा, सर्वनाम इत्यादि जैसे शब्दों को बनाने के लिए इनका उपयोग पूर्वसर्ग के रूप में किया जाता है, दूसरा, आदि इन शब्दों (पदों) का उपयोग (खींचना, खींचना) और पुल्लिंग, स्त्रीलिंग, नपुंसक लिंग और एकवचन, द्वंद्वात्मक और बहुवचन) में विभिन्न रूपों में होता है। इन्हें आमतौर पर शब्द कहा जाता है।
सात भक्ति हैं जो संज्ञा आदि में निहित हैं। विभक्ति के रूप जिन्हें इन व्यक्तियों के तीन छंदों (एक, दो, अनेक) में बने रूपों के लिए पाणिनि द्वारा परिकल्पित किया गया है, उन्हें ‘सपु’ कहा जाता है।

अन्य सभी शब्द रूप

shabd roop sanskrit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *